Ticker

10/recent/ticker-posts

central government : कोरोना से होने वाली मौतों पर इंस्युरेन्स नहीं 4 lakh rupees.....

 देश में कोरोना की रफ़्तार दूसरी लहर थमते ही डेल्टा + ने मुश्किलें बढ़ानी शुरू कर दी है 

इस बीच केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बतया है 


image source : indianexpress.com

कोरोना से होने वाली मौतों (death) के  insurance का कोई प्रावधान नहीं है केंद्र सरकार ने SC में हलफनामा दाखिल किया है जिसमे ये कहा गया है देश में ऐसे कोई निति नहीं है जिसके तहत कोरोना से हुई मौतों पर NATIONAL INSURANCE COVER मुहैया कराया जाता हो साथ ही सरकार ने कहा natural disaster के risk  INSURANCE COVRAGE में कोरोना महामारी को शामिल करने का कोई विचार नहीं किया गया है दरअसल कोरोना से होने वाली मौतों पर Supreme Court में पीड़ित परिवारों को 4 लाख मुवावजा देने वाली याचिका दाखिल की गयी है केंद्र सरकार ने Supreme Court में दोहराया वित्तीय आयोग ने October 2020 में आर्थिक सहयता देने के लिए महामारी को आपदा के रूप में शामिल करने के खिलाफ शिफारिश की थी बता दे ये हलफनामा केंद्र सरकार के उस हलफनामा स्पष्टीकरण में प्रस्तुत किया गया है जिसमे केंद्र सरकार ने स्पस्ट कहा था की कोरोना से मरने वालो के परिवार को 4 लाख



image source : indianexpress.com

का मुआवजा नहीं दिया जा सकता दरअसल 21 June को Supreme Court ने केंद्र सरकार से पूछा था प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने ये फैसला लिया था की मरने वालो को 4 - 4 lakh रुपया देना का अनुग्रह किया था Supreme Court ने ये भी कहा था की लाभार्थियों के मन में कोई मलाल न रह जाये इसके लिए एक सामान मुआवजा योजना त्यार की जा सकती है इस पर केंद्र सरकार ने कहा था राजकोषीय वित्तयी तथा केन्द्रो और राज्यों की आर्थिक स्तिथि भारी दबाओ के चलते  मुआवजा राशि का गहन करना बहुत कठिन है 

केंद्र सरकार ने दोनों याचिकाओं में अपना फैसला सुरक्षित कर लिया है 

अब देखना ये होगा SC क्या फैसला सुनाता है 

Post a Comment

0 Comments